Aaloo-gobhi ki sabji

आलू-गोभी की सब्जी

बाजार में ताजा-ताजा, सफ़ेद गोभी का फूल देखकर मन कर ही जाता है कि गोभी की सब्जी खाई जाए. लेकिन बनाएं कैसे? कहीं बहुत मुश्किल तो नहीं? गोभी कहीं गिलगिली सी तो नहीं हो जायेगी? तो जवाब है, नहीं जनाब. ऐसा कुछ नहीं होगा. बस इतना ध्यान रखें की गोभी अगर पहली बार बनाने जा रहे हैं तो कडाही में ही बनाएं. (कुकर में गोभी जल्दी जरूर बन जाती है लेकिन टाइमिंग जरा सा भी इधर-उधर होने पर सब्जी हलवा सी हो जाती है). और फ़ॉलो करेंगे अपना वही थम्ब रूल 'heavy bottom kadaahi'.

आवश्यक सामग्री:


गोभी का फूल - 1  छोटा साइज या 200 ग्राम ( छोटे छोटे फूल काट लें )

आलू - 1 बड़ा या 2 छोटे साइज के ( चित्र में दिखाए अनुसार काट लें )

सरसों का तेल - 1 बड़ा चम्मच ( कोई और कुकिंग आयल भी ले सकते हैं )
जीरा - 1 छोटा चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/2 छोटा चम्मच
धनिया पाउडर - 1 बड़ा चम्मच
गर्म मसाला - 1/2 छोटा चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटा चम्मच ( या स्वादानुसार कम ज्यादा कर सकते हैं )
नमक - 1 छोटा चम्मच ( या स्वादानुसार )
अमचूर पाउडर - 1/4 छोटा चम्मच

बनाने का तरीका

आलू और गोभी को काटकर अच्छे से धो लें.
कड़ाही में तेल डालकर गर्म करें. गरम तेल में जीरा डालें.
जब जीरा भुन जाए तब उसमें कटे हुए आलू और गोभी डालकर थोडा सा फ्राई करें (लगभग आधा मिनट).
अब इसमें हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, लाल मिर्च और नमक डालकर चमचे से चलाते हुए मिक्स कर दें.
हल्का सा पानी का छपका लगाकर कड़ाही को ढक दें और धीमी आंच पर 7-8 मिनट तक सब्जी को पकने दें.
अब कडाही खोलकर देखें कि आलू ठीक से गल गया है या नहीं (इसके लिए आलू के पीस को चमचे से दबाकर देखें यदि आलू गल गया होगा तो दबाते ही टूट जाएगा).
यदि आलू सख्त लगे तो थोडा सा पानी छिड़ककर फिर से कडाही ढककर 3-4 मिनट के लिए और पकने दें.
अब तक सब्जी पक चुकी होगी.
गैस बंद कर दें और कड़ाही को 2 मिनट ढककर रखा रहने दें.
अब  ढक्कन खोलकर सब्जी में गरम मसाला और अमचूर पाउडर मिला दें.
सब्जी तैयार है.

No comments:

Post a Comment